चाइना में फिर से संक्रमण ने पकड़ी रफ्तार, उत्तरी शहरों में लाकडाउन

सितंबर के बाद 18 अक्टूबर को सामने आए सबसे अधिक संक्रमण के मामले

सितंबर के बाद 18 अक्टूबर को सामने आए सबसे अधिक संक्रमण के मामले

सितंबर के बाद 18 अक्टूबर को सामने आए सबसे अधिक संक्रमण के मामले
सितंबर के बाद 18 अक्टूबर को सामने आए सबसे अधिक संक्रमण के मामले

चीन में कोरोना संक्रमण दोबारा से अपनी रफ्तार तेज कर चुका है। इस साल सितंबर के बाद बीते कल यानी 18 अक्टूबर को सबसे अधिक संक्रमण के मामले सामने आए है। जिसके बाद से उत्तरी सीमा से सटे कई प्रांतों में लाकडाउन लगाना पड़ा है। एनएचसी ने बताया कि विदेशों से आने वाले करीबन 25 लोग संक्रमित थे, वहीं नेशनल हेल्थ कमीशन ने यह जानकारी भी दी है कि शांग्जी और हुनान प्रांत में कुल चार, इनर मंगोलिया में नौ कोरोना संक्रमण के मामले सामने आए हैं। 

4636 लोगों ने गंवाई जान

सरकारी आंकड़ो की बात की जाए तो अब तक संक्रमण के चलते 4636 लोगों की मौत हुई है। वहीं मेनलैंड चाइना में इस समय 96571 केस एक्टिव है। 76 हजार आबादी वाला आटोनामस इरनहोट शहर के इनर मंगोलिया में स्थित है। इस क्षेत्र में ऐसे हालात है कि लोग जरूरी सामान लेने के लिए ही घरों से बाहर निकल रहे हैं। वाहनों को बिना जरूरी कारण के निकालने पर भी यहां रोक लगा दी गई है। 

इन जगहों पर लगा ताला

खराब हालात के चलते इंटरनेट कैफे, जिम और सिनेमाघरों पर ताला मार दिया गया है। इतना ही नहीं धार्मिक स्थलों में जाने से भी रोक लगा दी गई है। 48 घंटो के भीतर ली गई नेगेटिव रिपोर्ट दिखा कर ही शहर में प्रवेश किया जा सकता है। अभी तक चाइना ने यह नहीं बताया है कि किस वेरिएंट की चपेट में आकर लोग संक्रमित हुए हैं। 

एक नज़र इधर भी:-  Uttarakhand flood: रामगढ़ में मकान के मलबे में दबे लोग, नौ की मौत

रिपोर्ट दिखाने के बाद पर्यटक चीन के पर्यटन स्थलों पर जा सकते हैं। लेकिन सभी के लिए कोरोना दिशा निर्देश का पालन करना अनिवार्य होगा। होटल में रुकने वाले पर्यटकों को भी कोरोना नेगेटिव रिपोर्ट दिखाने के बाद ही कमरा दिया जाएगा। हुनान के चांग्सा और निंगशिया आटोनोमस जगह में भी कई संक्रमण के मामले सामने आए है। यिनशुआन शहर में भी संक्रमितों को क्वारंटाइन किया गया है।