कोविशील्ड के प्रति ब्रिटेन ने दी ऐसी प्रतिक्रिया, पढ़े पूरा मामला

नियम चार अक्टूबर से शुरू

नियम चार अक्टूबर से शुरू

कोविशील्ड को वैक्सीन का दर्जा ही नहीं
ब्रिटेन ने कोविशील्ड को वैक्सीन का दर्जा ही नहीं दियाPC:- Flickr

ब्रिटेन ने भारत में प्रयोग की जाने वाली कोविशील्ड को अपने देश में वैक्सीन का दर्जा ही नहीं दिया। ब्रिटेन के नए नियमों के अनुसार यदि कोई कोविशील्ड की दो डोज भी ले चुका है, तब भी उसे पूरे 10 दिनों के पृथक-वास में रहना होगा। इस कानून ने मात्र वैक्सीन की नहीं बल्कि सीरम इंस्टिट्यूट आफ इंडिया के ऊपर भी सवाल खड़ा किया है।

विदेश में जाने वाले भारतीय यात्रियों को इस नए कानून के चलते भारी दिक्कतों का सामना करना पड़ रहा है। टीकाकरण होने के बाद भी उनको 10 दिनों का क्वारंटाइन पूरा करना पढ़ रहा है। विदेश मंत्री एस जयशंकर ने ब्रिटेन के समक्ष इस मुद्दे को सामने रखा है। 

विदेश मंत्री ने कहा कि कोविशील्ड को इस तरह से मान्यता न देना एक भेदभावपूर्ण नीति है। इस से यूके की यात्रा करने वाली भारतीय नागरिक भी काफी प्रभावित होते हैं। जिसके बाद इस मुद्दे का जल्द से जल्द समाधान करने का आश्वासन दिया गया है। सीरम इंस्टिट्यूट आफ इंडिया द्वारा कोविशील्ड को बनाया गया है, वैक्सीन पर दी गयी इस तरह की प्रतिक्रिया को सहन नहीं किया जाएगा।