दिल्ली से सटे राज्यों में होंगे पटाखे बैन, मीटिंग में रखे गए यह अनोखे प्रस्ताव

वायु प्रदूषण को रोकने के लिए प्रस्ताव

वायु प्रदूषण को रोकने के लिए कई प्रस्ताव रखे

देश की राजधानी में बढ़ते हुए वायु प्रदूषण को ध्यान में रखते हुए सरकार हर प्रयास कर रही है। इसी समस्या के चलते एक ज्वाइंट मीटिंग भी आयोजित हुई। जिसमें उत्तरी भारत के राज्यों में वायु प्रदूषण को रोकने के लिए कई प्रस्ताव भी रखे गए हैं। दिल्ली सरकार द्वारा रखे गए प्रस्ताव प्रदूषण को रोकने के बहुत ही कारगर सिद्ध हो सकते हैं। 

इस ज्वाइंट मीटिंग की जानकारी प्रेस काॅन्फ्रेंस के माध्यम से पत्रकारों को दी गई। जिसमें बताया गया कि यह वायु प्रदूषण का कारण कहीं न कही पड़ोसी राज्यों में जलने वाली पराली भी है। 

पर्यावरण मंत्री गोपाल राय ने कहा कि जलाने के बजाय यदि बायो-डीकंपोजर का प्रयोग किया जाए तो पर्यावरण को काफी लाभ होगा। लेकिन इसके लिए राज्य सरकारों को कैप्सूल का घोल बनाकर खेतों तक छिड़काव की जिम्मेदारी भी लेनी होगी। जिस तरह दिल्ली ने ली है। 

वहीं दूसरी ओर मंत्री गोपाल राय ने दिल्ली सरकार की ओर से पड़ोसी राज्यों में पटाखों पर बैन लगाने का प्रस्ताव भी सामने रखा है। इससे दिल्ली के लोग पड़ोसी राज्यों से पटाखे भी नहीं खरीद पाएंगे। दिवाली पर चलाए जाने वाले पटाखों के धुएं से दिल्ली पर काफी लंबे समय तक बुरा असर रहता है। 

पर्यावरण के सुधार के लिए ही दिल्ली सरकार ने सार्वजनिक परिवहन को पूरी तरह सीएनजी बेस्ड करने का प्रस्ताव रखा है। वहीं दिल्ली सरकार ने ‘रेड लाइट आॅन गाड़ी आॅफ‘ को भी पड़ोसी राज्यों द्वारा स्वीकार करने का प्रस्ताव रखा है।