पीएम मोदी करने जा रहे स्वच्छ भारत मिशन 2.0 का शुभारंभ, इस तरह निपटा जाएगा कचरे व पानी की समस्या से

सात नई रक्षा कंपनियों को देश के लिए समर्पित करने का निर्णय

सात नई रक्षा कंपनियों को देश के लिए समर्पित करने का निर्णय

आज पीएम नरेंद्र मोदी जल सुरक्षा प्रदान करने और स्वच्छ भारत मिशन 2.0 की योजनाओं का करेंगे शुभारंभ

भारत में आज पीएम नरेंद्र मोदी जल सुरक्षा प्रदान करने और स्वच्छ भारत मिशन 2.0 की योजनाओं को आरंभ करने जा रहे हैं। इन दोनों योजनाओं का शुभारंभ शुक्रवार को होने जा रहा है। राष्ट्रीय राजधानी के डॉक्टर अंबेडकर इंटरनेशनल सेंटर में कार्यक्रम आयोजित किया जा रहा है, जिसमें इन की शुरुआत की जाएगी। साल 2030 तक के निर्धारित किए गए लक्ष्यों को प्राप्त करने के लिए सरकार इस मिशन पर काम करेगी। जिससे कि शहरों को कचरा मुक्त बनाने में यथासंभव प्रयास किए जाएंगे।

ट्रिपल आर से जुड़ी है योजना
रिड्यूस, रीयूज और रीसाइकिल के आधार पर ही कचरे की समस्या का निवारण किया जाएगा। वैज्ञानिक आधार को अपना कर ही मिशन में सफलता हालिल की जा सकती है। स्वच्छ भारत मिशन के दूसरे चरण में निर्धारित कार्यों व चुनौतियों को आने वाले पांच सालों में पूरा करने का लक्ष्य है। जिसके बाद बड़े शहरों में कूड़े से भरे पहाड़ बनना बंद हो जाएंगे। इसके अलावा पानी को भी इस तरह साफ किया जाएगा कि दोबारा से उसका उपयोग किया जा सके। वहीं हर घर को नल की सुविधा से मुहैया कराया जाएगा।

इस मिशन के तहत लगभग 4700 लोकल बाॅडीज को स्वच्छ पानी की सुविधा मिल जाएगी। साथ-साथ सीवेज के पानी को भी साफ करने के काम की शुरूआत हो जाएगी। वहीं शहरों में जमा होने वाले कूड़े पर विशेष ध्यान दिया जाएगा। शहरों की जनसंख्या को ध्यान में रखकर सरकार अपनी सुविधाएं जनता को देगी।

प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी के जरिए की शुरुआत के बाद सरकार इन योजनाओं के तहत भारत में करीब 2.68 करोड़ पानी के कनेक्शन देगी। जिसके बाद से जनता को गंदे पानी की समस्या से नहीं झूझना पड़ेगा। इन योजनाओं के तहत तकरीबन 500 शहरों में दो करोड़ से भी अधिक सीवर कनेक्शन दिए जाएंगे। जिसका फायदा करीब 10.5 करोड़ लोग उठा पाएंगे।