बुल्ली बाई ऐप मामले में सुल्ली डील्स बनाने वाला आया सामने

Bulli Bai
बुल्ली बाई (Bulli Bai) बुल्ली बाई

बुल्ली बाई करता था मुस्लिम मजहब की लड़कियों और औरतों की नीलामी

Bulli Bai बुल्ली बाई
Bulli Bai
बुल्ली बाई करता था मुस्लिम मजहब की लड़कियों और औरतों की नीलामी

गिरफ्तारी के बाद इंदौर से पकड़ा गया आरोपी 

पिछले कुछ महीनों से देश में सुल्ली डील्स और बुल्ली बाई ऐप ने हड़कंप मचा रखा था। ये दोनों ही ऐप मुस्लिम मजहब की लड़कियों और औरतों की तस्वीर इस्तेमाल करते थे और फिर उन महिलाओं की नीलामी करते थे। 

इंस्टीट्यूट ऑफ टेक्नोलॉजी से की है पढ़ाई  

दिल्ली पुलिस और मुंबई पुलिस ने साथ मिलकर बुल्ली बाई ऐप बनाने वाले को गिरफ्तार किया। बुल्ली बाई ऐप बनाने में चार लोग शामिल थे,  जिसमें एक लड़की भी है। इस ऐप का मुख्य आरोपी वेल्लोर इंस्टीट्यूट ऑफ टेक्नोलॉजी में पढ़ाई करता था और गिरफ्तारी के बाद वीआईटी ने उस छात्र को सस्पेंड कर दिया है।

ऐप से होती थी मुस्लिम महिलाओं की नीलामी 

बुल्ली बाई ऐप मामला सुलझाने के बाद पिछले साल ही चर्चा में आए सुल्ली डील्स के मास्टरमाइंड को दिल्ली पुलिस ने पकड़ लिया है। ये ऐप सबसे पहले बनाया गया था जिसमें मुस्लिम महिलाओं की नीलामी होती थी। जैसे ही बुल्ली बाई का मामला सुलझा सुल्ली डील्स के आरोपी ने गिरफ्तारी के डर से ने अपने सारे डिजिटल फुटप्रिंट्स हटा दिए और सारे सोशल मीडिया से हट गया लेकिन दिल्ली पुलिस ने आखिरकार आरोपी को इंदौर से गिरफ्तार कर लिया गया है।

एक नज़र इधर भी:- कजाकिस्तान: विरोध प्रदर्शनों में 164 की मौत, 175 मिलियन की संपत्ति क्षतिग्रस्त

रविवार की सुबह दिल्ली पुलिस की स्पेशल सेल ने आरोपी अमुकरेश्वर ठाकुर को इंदौर से गिरफ्तार किया, वह इंदौर के न्यूयॉर्क सिटी का निवासी था। आरोपी ने अपना गुनाह कबूल कर लिया है और पुलिस उस से और भी जानकारी इकट्ठा करने में जुटी हुई है। 

इस तरह के ऐप बनाने का मामले बाहर से यानि विदेशों से सुनने में आते थे। लेकिन अब भारत में ऐसे मामले सुनने में आने लगे है। इस एप के मास्टरमाइंड को गिरफ्तार कर पूछताछ कर रही है। जल्द ही इस मामले से जुड़े अन्य आरोपियों का भी पर्दाफाश किया जा सकता है।