दिवाली पर जम्मू-कश्मीर के नौशेरा में जवानों से मिले पीएम मोदी, शहीदों को दी श्रद्धांजलि

पीएम मोदी ने कहा हमारे जवान 'मां भारती' के 'सुरक्षा कवच'

पीएम मोदी ने कहा हमारे जवान 'मां भारती' के 'सुरक्षा कवच'

पीएम मोदी ने कहा हमारे जवान 'मां भारती' के 'सुरक्षा कवच'
पीएम मोदी ने कहा हमारे जवान ‘मां भारती’ के ‘सुरक्षा कवच’

प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी गुरुवार को जवानों के साथ दिवाली मनाने जम्मू के नौशेरा पहुंचे। उन्होंने कर्तव्य के दौरान अपनी जान गंवाने वाले शहीदों को भी श्रद्धांजलि दी। उन्होंने कहा, ‘हमारे जवान ‘मां भारती’ के ‘सुरक्षा कवच’ हैं। आप सभी की वजह से ही हमारे देश के लोग चैन की नींद सो पाते हैं और त्योहारों में खुशियां आती हैं।”

2014 में पदभार ग्रहण करने के बाद से दिवाली पर सैनिकों से मिलना प्रधानमंत्री की वार्षिक परंपरा रही है। पिछले साल, पीएम मोदी ने राजस्थान के जैसलमेर में लोंगेवाला की यात्रा की थी, वहां तैनात सैनिकों के साथ दिवाली मनाने के लिए ही मोदी वहां पर उपस्थित हुए थे। इस मौके पर पीएम ने कहा था कि जब तक भारतीय जवान मौजूद रहेंगे, इस देश में दिवाली का जश्न पूरे जोश के साथ जारी रहेगा और जगमगाता रहेगा। 

2019 में, उन्होंने जम्मू-कश्मीर में नियंत्रण रेखा (एलओसी) के साथ राजौरी जिले में सैनिकों के साथ दिवाली मनाई थी। उन्होंने सैनिकों को अपना परिवार कहा था और त्योहारों के दौरान भी सीमाओं की रक्षा के लिए उनकी सराहना की थी। पीएम ने पठानकोट वायुसेना स्टेशन पर भारतीय वायु सेना (IAF) के जवानों के साथ दिवाली की बधाई दी थी।

2018 में, मोदी ने उत्तराखंड के हरसिल में भारतीय सेना और भारत-तिब्बत सीमा पुलिस (ITBP) के जवानों के साथ दिवाली मनाई थी। इसके बाद उन्होंने केदारनाथ धाम में पूजा-अर्चना की थी। 2017 में, वह त्योहार पर जम्मू और कश्मीर के बांदीपोरा जिले की गुरेज घाटी में सेना के जवानों और सीमा सुरक्षा बल (बीएसएफ) के जवानों के साथ थे।

एक नज़र इधर भी:- दिल्ली में महिला की हत्या, अभी तक लगा हाथ कोई सुराग

प्रधानमंत्री 2016 में एक चौकी पर भारत-तिब्बत सीमा पुलिस कर्मियों के साथ त्योहार मनाने के लिए हिमाचल प्रदेश गए थे। वह 2015 में सैनिकों के साथ दिवाली मनाने के लिए पंजाब सीमा पर गए थे। 2014 में पीएम मोदी ने सैनिकों के साथ सियाचिन में दिवाली मनाई थी।