क्लब हाउस ऐप पर किए मुस्लिम महिलाओं के बारे में भद्दे कमेंट्स

बुली बाई
Clubhouse Clubhouse

"बुली बाई" ऐप से संबंधित एक मामले में एक और गिरफ्तार, करते थे मुस्लिम महिलाओं की ऑनलाइन नीलामी

Clubhouse App
ऑडियो चैट ऐप क्लब हाउस पर हुई मुस्लिम महिलाओं के खिलाफ अपमानजनक टिप्पणी, पढ़े क्या है पूरा मामला

दिल्ली महिला पैनल ने कहा पुलिस करे एफआईआर दर्ज

दिल्ली महिला आयोग ने मंगलवार को एक नोटिस जारी कर शहर की पुलिस को ऑडियो चैट ऐप क्लब हाउस पर मुस्लिम महिलाओं के खिलाफ अपमानजनक टिप्पणी करने वाले लोगों के खिलाफ कार्रवाई करने को कहा है। महिला पैनल ने पुलिस से सोशल मीडिया उपयोगकर्ताओं के खिलाफ पहली सूचना रिपोर्ट दर्ज करने के लिए कहा है। एक सोशल मीडिया यूजर द्वारा क्लब हाउस चैट का रिकॉर्ड वीडियो ट्विटर पर पोस्ट किए जाने के बाद दिल्ली महिला आयोग ने मामले का संज्ञान लिया।

एक नज़र इधर भी:- कोविड-19: आइसोलेशन के दस दिनों के बाद भी रोगी हो रहे संक्रमित

आयोग ने कहा कि मामला गंभीर है और सख्त कार्रवाई की मांग की है। इसने पुलिस को 24 जनवरी तक आरोपियों और गिरफ्तार व्यक्तियों के विवरण के साथ एक कार्रवाई रिपोर्ट प्रस्तुत करने को कहा है। आयोग ने पुलिस से 24 जनवरी तक गिरफ्तारी नहीं होने पर कारण बताने को भी बोला हुआ है।

आखिर कब तक चलेंगी अश्लील टिप्पणियां

दिल्ली महिला आयोग की अध्यक्ष स्वाति मालीवाल ने क्लब हाउस की बातचीत की कड़ी निंदा की और कहा कि पुलिस को तुरंत प्राथमिकी दर्ज करनी चाहिए और आरोपी व्यक्तियों को गिरफ्तार करना चाहिए। उन्होंने ट्विटर पर कहा, “[सुली डील्स], बुल्ली बाई और अब क्लब हाउस पर मुस्लिम महिलाओं के बारे में अश्लील और अश्लील टिप्पणियां की गई है।” “कब तक ऐसा चलेगा?”

मालीवाल दो ऐप का जिक्र कर रहे थे, जिनका इस्तेमाल मुस्लिम महिलाओं की तस्वीरों को “ऑनलाइन नीलामी” में डालने के लिए किया गया है। “बुली” और “सुली” दोनों ही अपमानजनक शब्द हैं जिनका इस्तेमाल मुस्लिम महिलाओं के लिए किया जाता है।

जुलाई में “सुली डील्स” ऐप और 1 जनवरी को “बुली बाई” सामने आया। सोशल मीडिया पर नाराजगी के बाद ऐप को होस्टिंग प्लेटफॉर्म गिटहब से हटा दिया गया है। बुल्ली बाई मामले में दिल्ली पुलिस ने मामले के मुख्य साजिशकर्ता नीरज बिश्नोई को गिरफ्तार किया है। मुंबई पुलिस ने मामले में तीन और लोगों को गिरफ्तार किया है।