कोरोना वैक्सीन की खरीदारी के लिए भारत सरकार लेगी इन बैंकों से लोन

एशियन डेवलपमेंट बैंक(ADB) और एशियाई इंफ्रास्ट्रक्चर इन्वेस्टमेंट बैंक(AIIB) में लोन के लिए अप्लाई किया

एशियन डेवलपमेंट बैंक(ADB) और एशियाई इंफ्रास्ट्रक्चर इन्वेस्टमेंट बैंक(AIIB) में लोन के लिए अप्लाई किया

एशियन डेवलपमेंट बैंक(ADB) और एशियाई इंफ्रास्ट्रक्चर इन्वेस्टमेंट बैंक(AIIB) में लोन के लिए अप्लाई किया
एशियन डेवलपमेंट बैंक(ADB) और एशियाई इंफ्रास्ट्रक्चर इन्वेस्टमेंट बैंक(AIIB) में लोन के लिए अप्लाई किया

भारत ने कोरोना वैक्सीन के 667 मिलियन डोज़ खरीदने के लिए एशियन डेवलपमेंट बैंक(ADB) और एशियाई इंफ्रास्ट्रक्चर इन्वेस्टमेंट बैंक(AIIB) में लोन के लिए अप्लाई किया है। ADB से 1.5 बिलियन डॉलर और AIIB से 500 मिलियन डॉलर तक का लोन भारत को वैक्सीन खरीदने के लिए मिल सकता है।

ADB फिलीपींस के मनीला में स्थित बैंक है जिसके सर्वाधिक स्टेक अमेरिका और जापान के पास है जबकि AIIB चाइना के बीजिंग शहर में है और इस बैंक में भारत समेत चीन के सर्वाधिक स्टेक है। कोरोना महामारी को मद्देनज़र रखते हुए ADB ने एशिया पैसिफिक वैक्सीन एक्सेस फैसिलिटी(APVAX) बनाई है जिसके तहत भारत को ये लोन मिल रहा है।

APVAX एक ऐसी पहल है जिसे दिसंबर 2020 में लॉन्च किया गया था, इसके अंतर्गत साथी देशों को कोरोना वैक्सीन आसानी से मौजूद हो सकेगा और साथ ही साथ वैक्सीन के लिए वित्तीय मदद भी मिलेगी।

भारत ने 667 मिलियन कोरोना वैक्सीन की खुराक के लिए करीब दो बिलियन डॉलर का लोन अप्लाई किया है लेकिन APVAX सिर्फ़ WHO के द्वारा मान्यता प्राप्त हुई वैक्सीन के लिए ही लोन देता है और भारत में बनायी गयी तो वैक्सीनों; कोवीशील्ड और कोवैक्सीन में से कोवैक्सीन को WHO ने अभी मान्यता नहीं दी है। WHO की तरफ से कोवैक्सीन की मान्यता पर फैसला 3 नवंबर को आएगा।