किसान आंदोलन: सिंघु बॉर्डर पर नहीं थम रहा है जुर्म

गरीब पोल्ट्री में काम करने वाले का पीट पीटकर पैर तोड़ दिया

गरीब पोल्ट्री में काम करने वाले का पीट पीटकर पैर तोड़ दिया

गरीब पोल्ट्री में काम करने वाले का पीट पीटकर पैर तोड़ दिया
गरीब पोल्ट्री में काम करने वाले का पीट पीटकर पैर तोड़ दिया

बुधवार को हरियाणा के सिखों बॉर्डर पर एक बार फिर से गरीब पोल्ट्री में काम करने वाले का पीट पीटकर पैर तोड़ दिया गया। यह घटना सिंघु बॉर्डर पर जहाँ किसान आंदोलन कर रहे हैं वहीं पर हुई है इससे पहले हुई घटना मैं निहंग सिखों ने एक व्यक्ति की पीट पीटकर हत्या कर दी थी, उस व्यक्ति का नाम लखबीर सिंह था। पोस्टमार्टम रिपोर्ट में सामने आया कि लखबीर सिंह के शरीर पर 39 चोटों के निशान थे और पुलिस ने दो निहंग सिखों को इस मामले में गिरफ़्तार भी किया। लखबीर सिंह की हत्या सिर्फ़ इस वजह से हुई है क्योंकि उस पर यह आरोप लगा था कि उसने गुरु ग्रंथ साहिब की बेअदबी की है।

सिंघु बॉर्डर पर कल हुई घटना में पुलिस ने एक निहांग को गिरफ्तार किया है जिस पर आरोप है कि उसने बिहार से आए मनोज पासवान को सिर्फ़ इसलिए पीटा क्योंकि वो मुफ़्त में 1 मुर्गा देने से इनकार कर दिया था। मनोज पासवान 15 साल से एक पोल्ट्री फार्म में काम कर रहा और बुधवार की सुबह वो रिक्शा पर मुर्गों को ले जा रहा था कि तभी आरोपियों ने उससे मुफ़्त में एक मुर्ग़ा माँगा जिसको मनोज पासवान ने देने से साफ़ इंकार कर दिया, इसके बाद आरोपी ने उसको पीट पीटकर उसके दोनों पैर तोड़ दिए।

कुंडली पुलिस ने आरोपी को गिरफ़्तार कर लिया है और बताया जा रहा है कि वो निहांग बाबा अमन सिंह के दल का एक सहकर्मी है।