भारतीय सेना की गोलियों का शिकार बने दो आतंकी, कश्मीर के शोपियन में हुआ एनकाउंटर

कश्मीर के शोपियन में हुआ एनकाउंटर

कश्मीर के शोपियन में हुआ एनकाउंटर

कश्मीर के शोपियन में हुआ एनकाउंटर
कश्मीर के शोपियन में हुआ एनकाउंटर

बुधवार की सुबह भारतीय सेना और जम्मू कश्मीर पुलिस के ज्वाइंट ऑपरेशन में कश्मीर के शोपियन इलाक़े में 2 आतंकवादी मारे गए, खूफ़िया एजेंसियों से मिली जानकारी के बाद सेना ने शोपियन में खोजबीन चालू कर दी जहां पर ये ऑपरेशन एंकाउंटर में तब्दील हो गया और सेना ने दो कुख्यात आतंकियों को ढेर कर दिया।

मारे गए दो आतंकियों में से एक की पहचान आदिल वानी के नाम से हुई है जो जुलाई 2020 से आतंकी मामलों में शामिल था और इसने पुलवामा में उत्तर प्रदेश के एक मज़दूर की हत्या की थी।

आतंकियों ने सेना पर पहले गोलीबारी की जिसका मुंहतोड़ जवाब दिया गया और दो आतंकी मारे गए। जम्मू कश्मीर में सेना और आतंकियों के बीच मुठभेड़ कई दिनों से जारी है, इससे पहले भारतीय सेना ने लश्कर ए तैयबा के कमांडर उमर मुश्ताक़ खानदेय को पुलवामा के पंपोर में मार गिराया था। यह आतंकी सेना के निशने पर काफ़ी समय से था।

भारतीय सेना और आतंकियों के बीच अभी तक आठ बार मुठभेड़ हो चुकी है जिसमें भारतीय सेना ने 15 आतंकवादियों को मार गिराया है।

जम्मू कश्मीर में दो अक्टूबर से आतंकी अल्पसंख्यकों और दूसरे शहरों से आए मज़दूरों को अपना निशाना बना रहे थे, अभी तक 11 व्यक्ति आतंकवादियों की गोली का निशाना बन चुके हैं।इसी को देखते हुए भारतीय सेना और आतंकवादियों के बीच लगातार गोलीबारी जारी है और सेना ढूंढ ढूंढकर घाटी से आतंकियों का सफ़ाया कर रही है लेकिन भारतीय सेना को भी ख़ासा नुक़सान पहुँचा है,सेना के 9 जवान अभी तक इस ऑपरेशन में शहीद हो चुके हैं।

घाटी में बढ़ती आतंकवादी गतिविधियों के बाद दूसरे शहरों से आए लोग अपने शहर वापस जा रहे हैं और अल्पसंख्यक भी अपने घरों को छोड़ने पर मजबूर हो गए हैं।