निर्वाचन आयोग ने रोड शो और रैलियों पर लगाया 31 जनवरी तक प्रतिबंध, कोविड के चलते लिया गया फ़ैसला

निर्वाचन आयोग

10 फ़रवरी से भारत में पाँच राज्यों में विधानसभा चुनाव होने वाले हैं, ये राज्य उत्तर प्रदेश, उत्तराखंड, पंजाब, गोवा और मणिपुर हैं। देश कोविड की तीसरी लहर से भी गुज़र रहा है और रोज़ाना तक़रीबन 3 लाख से ज़्यादा कोरोना के मामले दर्ज हो रहे हैं। इस बात का ध्यान रखते हुए भारतीय निर्वाचन आयोग ने सभी चुनावी राज्यों में रैलियों और रोड शो पर 31 जनवरी तक का प्रतिबंध लगा दिया है।

28 जनवरी से फ़ेज़ वन में चुनाव लड़ने वाली पार्टीयाँ और उम्मीदवार मीटिंग कर सकते हैं

गौरतलब है आयोग ने डोर टु डोर कैम्पेन के लिए अधिकतम जो पाँच लोगों की अनुमति दी थी वो अब बढ़ाकर दस व्यक्तियों की कर दी है, यहाँ तक की 28 जनवरी से फ़ेज़ वन में चुनाव लड़ने वाली पार्टीयाँ और उम्मीदवार मीटिंग कर सकते हैं। यही सिलसिला दूसरे फ़ेज़ के उम्मीदवारों के लिए भी चलेगा जिनको अनुमति 1 फ़रवरी से मिलेगी।

निर्वाचन आयोग ने कोविड और ओमिक्रान के मामले देखते हुए आयोग ने अपना फ़ैसला बदल लिया

निर्वाचन आयोग ने 8 जनवरी को रैलियों पर 15 जनवरी तक प्रतिबंध लगाया था जी की बढ़कर 22 जनवरी तक हो गया था लेकिन बढ़ते कोविड और ओमिक्रान के मामले देखते हुए आयोग ने अपना फ़ैसला बदल लिया है।

यह भी पढ़े: दिल्ली उत्तर प्रदेश समेत कई राज्यों बारिश के अनुमान से अभी और बढ़ेगी ठंड