राजस्थान: चुरू जिले में दलित व्यक्ति के साथ मारपीट

राजस्थान
राजस्थान राजस्थान

राजस्थान की इस जगह में दलित व्यक्ति को पेशाब पीने को किया मजबूर, पढ़े क्या है पूरा मामला

राजस्थान
राजस्थान की इस जगह में दलित व्यक्ति को पेशाब पीने को किया मजबूर, पढ़े क्या है पूरा मामला

दलित व्यक्ति को पेशाब पीने को किया मजबूर

शनिवार को राजस्थान पुलिस ने चूरू जिले में एक दलित व्यक्ति को पेशाब पीने के लिए मजबूर करने और मारपीट करने के बाद आठ लोगों के खिलाफ प्राथमिकी दर्ज की है। बुधवार की रात रुखसार गांव निवासी राकेश मेघवाल पर हमला किया गया। एक दिन बाद मामला दर्ज किया जा। 

पीड़ित को पिलाई गई थी जबरदस्ती शराब 

प्रथम सूचना रिपोर्ट के अनुसार आरोपी व्यक्ति मेघवाल को जबरन उसके घर से पास के खेत में एक कार में ले गए जहां उसे जबरदस्ती शराब पिलाई गई। आरोपी व्यक्तियों ने कथित तौर पर बोतल में पेशाब भी किया और उसे पिला दिया।

आठ लोगों पर दर्ज की गई है FIR 

आठ लोगों पर भारतीय दंड संहिता की धारा 143 (गैरकानूनी सभा), 323 (स्वेच्छा से चोट पहुंचाना), 365 (अपहरण) और 382 (चोरी) और अनुसूचित जाति और अनुसूचित जनजाति (अत्याचार निवारण) अधिनियम, 1989 के तहत आरोप लगाए गए हैं।

एक नज़र इधर भी:- SBI ने गर्भवती महिलाओं से जुड़े इस नियम पर लगाई रोक

मृत समझ कर आरोपियों ने फेंक दिया था गांव में 

मेघवाल ने पुलिस को बताया कि आरोपियों ने उसे मरा समझकर गांव में छोड़ दिया और उसका मोबाइल फोन चुरा लिया। उन्होंने आरोप लगाया कि पिछले साल होली के त्योहार के दौरान हुए विवाद के कारण आरोपी व्यक्तियों की उनसे व्यक्तिगत दुश्मनी थी।

द इंडियन एक्सप्रेस के अनुसार, रतनगढ़ सर्कल ऑफिसर हिमांशु शर्मा ने कहा, “हम आरोपी को गिरफ्तार करने की कोशिश कर रहे हैं।” “प्रथम दृष्टया, मेघवाल के साथ मारपीट के आरोप सही पाए गए है।”

हालांकि, शर्मा ने कहा कि उन्हें इस आरोप के संबंध में कोई सबूत नहीं मिला है कि मेघवाल को पेशाब पीने के लिए मजबूर किया गया था। उन्होंने कहा, ‘हम इसकी जांच कर रहे हैं। “मेघवाल चलने में सक्षम हैं और उनकी अधिकांश चोटें उनकी पीठ पर हैं, जो रस्सियों से बनी प्रतीत होती हैं। सभी आरोपी जाट समुदाय से है।

पुलिस अभी भी जांच में जुटी हुई है और आरोपियों को हिरासत में रखा गया है। सभी से पूछताछ की जा रही है।