ब्रिटेन ने माना भारत का लोहा, कोविशील्ड पर दी मंज़ूरी

नियम चार अक्टूबर से शुरू

नियम चार अक्टूबर से शुरू

नियम चार अक्टूबर से शुरू
नियम चार अक्टूबर से शुरू

भारत की तरफ से उठाए गए कड़े क़दम के बाद आखिरकार ब्रिटेन को भारत के सामने झुकना पड़ा। दरअसल,ब्रिटेन ने भारत की वैक्सीन कोविशील्ड को मान्यता देने से इंकार कर दिया था और जो भी यात्री यह वैक्सीन लगाकर ब्रिटेन जाना चाहता था उस को 10 दिन के लिए कवारंटाइन होना अनिवार्य था।

लेकिन आज ही ब्रिटेन ने यह फैसला वापस ले लिया है और 11 अक्टूबर से जो भी यात्री भारत से ब्रिटेन जाएगा उसको कोई दिक़्क़त का सामना नहीं करना पड़ेगा। भारत में ब्रिटिश उच्चायुक्त एलेक्स एलिस ने एक वीडियो संदेश जारी करते हुए कहा कि यूके जाने वाले भारतीय यात्रियों के लिए 11 अक्टूबर से कोविशील्ड या यूके द्वारा अनुमोदित किसी अन्य वैक्सीन लेने वालों को क्वारंटाइन में नहीं रहना होगा।

ब्रिटेन का यह फैसला आने से पहले भारत ने भी ब्रिटेन के खिलाफ कड़ी कार्रवाई की थी जिसके तहत ब्रिटेन से आने वाले कोई भी यात्री को 10 दिन के लिए अनिवार्य क्वारंटाइन होना था और साथ ही साथ भारतीय हॉकी टीम ने ब्रिटेन में होने वाले मुकाबले से अपना नाम बाहर ले लिया जिसके बाद उन पर और दबाव बना।

भारत की तरफ से लागू किया गया ये नियम चार अक्टूबर से शुरू हो गया है। इस नियम के अंदर कोरोना का टीका लगे हुए व्यक्तियों को भी आइसोलेशन में रहना अनिवार्य है।