IAF महिला अधिकारी से बलात्कार का मामला; सहयोगी के साथ डॉक्टर पर भी लगे हैं यह गंभीर आरोप

n

n

IAF महिला अधिकारी से बलात्कार का मामला

10 सितंबर को 29 साल की महिला अधिकारी कोयंबटूर के एयरफोर्स कॉलेज में रात में अपने सहयोगी अमितेश के साथ शराब पीकर वापस आयी थी। शराब का आखिरी ग्लास उसके सहयोगी ने उसे पिलाया जिसके बाद महिला की बेहोशी की हालत हुई। इस घटना के बाद महिला के कमरे में सहयोगी अमितेश भी आ गया जहां पर उसने महिला का रेप किया। जब महिला सुबह उठी है तो उसकी सहेली ने उससे पूछा कि क्या उसने अमितेश को कमरे में आने की इजाज़त दी थी जिसके बाद महिला का यकीन शक यक़ीन में बदल गया।
उसने अमितेश से पूछा और उसने अपना जुर्म कबूला और किसी भी कार्रवाई के लिए सहमति जता दी थी, महिला का कहना है कि अमितेश का जुर्म फ़ोन में रिकॉर्डड है।
इसके ठीक बाद पीड़ित महिला जब डॉक्टरों के पास अपनी जांच कराने जाती है,तो डॉक्टर उसका टू फिंगर टेस्ट करते हैं। आपको बता दें कि टू फिंगर टेस्ट पर 2014 में प्रतिबंध लगा दिया गया था। इस घटना के बाद महिला ने डॉक्टरों पर भी यौन शोषण का आरोप लगाया साथ ही यह भी जानकारी दी है कि उसके सेक्शुअल हिस्ट्री के बारे में भी पूछा गया था।
पीड़िता ने FIR में ये भी कहा है कि उस को सबसे ज्यादा दुख तब हुआ था जब एयरफोर्स के अधिकारियों ने उसे मामला वापस लेने को कहा था। इतने बड़े जुर्म को देखते हुए महिला आयोग की चीफ रेखा शर्मा ने एयर फ़ोर्स को पत्र भी लिखा और ज़रूरी क़दम उठाने को कहा है।
आरोपी की गिरफ्तारी हो चुकी है और कोर्ट ने इस मामले का संज्ञान लिया और कहा कि यह कार्रवाई कोर्ट मार्शल के तहत की जाएगी, तमिलनाडु के एक कोर्ट का यह फैसला अब इंडियन एयरफोर्स को सौंप दिया गया है।